थाना सिरगिट्टी के द्वारा हत्या के प्रकरण का चंद घंटों में खुलासा पति ने चरित्र शंका पर पत्नी की हत्या किया

(अमित संतवानीं) प्रार्थी गेंद लाल भारती सीताराम प्रसाद भारती थाना सिरगिट्टी में प्रथम सूचना पत्र दर्ज कराया कि उसकी पुत्री का विवाह वर्ष 2008 में बबलू उर्फ शिव कुमार कोसले निवासी गणेश नगर नयापारा सिरगिट्टी के साथ सामाजिक रीति रिवाज के साथ हुई थी तथा उसका पति विगत कुछ वर्षों से चरित्र शंका पर से आए दिन वाद-विवाद करता रहता था कुछ दिन पहले प्रार्थी तथा उसका जीजा कमल टंडन भी शिव कुमार कोसले को घर जाकर समझाए थे कि वह अपनी पत्नी से अनावश्यक वाद विवाद ना किया करें परंतु उसके द्वारा धमकी भरे हुए लहजे में जवाब दिया गया था कि यदि उसकी पत्नी नहीं सुधरी तो उसे जान से मार देगा । आज दिनांक 01.11.21 को सुबह लगभग 9:00 बजे प्रार्थी की पड़ोसन शिवकुमारी उसे बताएगी तुम्हारी बेटी की हत्या हो गई है डायल 112 पुलिस तुम्हारे दामाद को थाना लेकर गए हैं तब प्रार्थी अपनी बेटी के घर जाकर देखा कि उसकी बेटी की धारदार हथियार से माथे पर गहरी चोट पहुंचा कर हत्या कर दी गई है प्रार्थी की रिपोर्ट पर थाना सिरगिट्टी में अपराध क्रमांक 620/2021 धारा 302 भादवि का अपराध पंजीबद्ध कर मामले को विवेचना में लिया गया तथा सूचना से वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक महोदय बिलासपुर श्री दीपक कुमार झा को अवगत करा कर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक महोदय(शहर) बिलासपुर श्री उमेश कश्यप तथा नगर पुलिस अधीक्षक (कोतवाली) महोदया श्रीमती स्नेहिल साहू से आवश्यक दिशा-निर्देश प्राप्त कर थाना स्तर पर टीम गठित कर आरोपी बबलू उर्फ शिव कुमार कोसले पिता जगदीश कोसले को हत्या में प्रयुक्त औजार(फावड़ा) सहित हिरासत में लिया गया पूछताछ पर आरोपी बबलू उर्फ शिव कुमार कोसले ने बताया कि उसकी पत्नी सरकंडा स्थित मोनालिसा ब्यूटी पार्लर में काम करती थी तथा वह कुछ अन्य लोगों के संपर्क में थी जिस कारण दोनों के मध्य आए दिन वाद विवाद होता रहता था आज भी भोर में वह अपनी पत्नी को ब्यूटी पार्लर में काम करने पर जाने से मना किया जिससे उसकी पत्नी काम नहीं छोडूंगी बोली तब वह पास पड़े फावड़े से अपनी पत्नी की सिर में तेज वार कर उसकी हत्या कर दिया जिसे वैधानिक कार्यवाही पश्चात माननीय न्यायालय रिमांड पर भेजा जाएगा !!! संपूर्ण कार्यवाही में थाना प्रभारी सिरगिट्टी फैजुल होदा शाह, सहायक उप निरीक्षक अशोक चौरसिया ,सहायक उपनिरीक्षक जीवन जायसवाल ,महिला प्रधान आरक्षक रीना प्रधान बंजारे, आरक्षक डायल (112) लक्ष्मीकांत मिश्रा एवं महिला आरक्षक प्रीति शर्मा की अहम भूमिका रही।