*अनूपपुर एकीकृत आदिवासी विकास परियोजना हेतु मांग हुई बुलंद* *अजजा आयोग के पूर्व अध्यक्ष रामलाल रौतेल ने की राज्यपाल सौजन्य भेंट कर सौंपा मांगपत्र*

0
34

मनीष शुक्ला

*अनूपपुर / 2003 में शहडोल से अलग होकर अनूपपुर जिला निर्माण को दो दशक होने को आ रहे हैं लेकिन आज तक आदिवासी विकास परियोजना का कार्य शहडोल से ही हो रहा है। इसे ध्यान में रखते हुए अनूपपुर के पूर्व विधायक एवं अजजा आयोग के पूर्व अध्यक्ष रामलाल रौतेल ने महामहिम राज्यपाल से सौजन्य भेंट कर अनूपपुर आदिवासी विकास परियोजना हेतु मांग बुलंद की*।
श्री रौतेल से दूरभाष पर प्राप्त जानकारी के अनुसार उन्होंने महामहिम राज्यपाल श्री मंगूभाई छगनभाई पटेल से सोमवार, 4 अक्टूबर की सुबह लगभग 11 बजे भोपाल में सौजन्य भेंट की। श्री रौतेल ने राज्यपाल महोदय को पत्र सौंपकर मांग की है कि म प्र के अंतिम छोर पर अनूपपुर आदिवासी बाहुल्य, पिछड़ा संवेदनशील जिला है। जिले का निर्माण हुए लगभग 17 वर्ष हो गये हैं। यह जिला आज भी सोहागपुर आदिवासी विकास परियोजना के तहत आता है। इस परियोजना में शहडोल जिले के सोहागपुर,गोहपारु,बुढार शामिल होने से अनूपपुर जिले का हिस्सा भी इन विकासखंडों में बंट जाता है। योजनाओं की स्वीकृति में भी अधिक समय लगता है। अनूपपुर जिला आदिवासी विकास परियोजना का प्रस्ताव पूर्व में ही राज्य सरकार के माध्यम से केन्द्र को भेजा जा चुका है। अनूपपुर पिछडा जनजातीय बाहुल्य जिला होने से यहाँ अभी भी बहुत से विकास कार्य कराये जाने की जरुरत है। श्री रौतेल ने महामहिम राज्यपाल महोदय से आग्रह किया है कि अतिशीघ्र अनूपपुर एकीकृत आदिवासी विकास परियोजना की स्वीकृति करने की कृपा करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here