युवाओं, गैर सरकारी संगठनों और सामाजिक कार्यकर्ताओं की भूमिका।

0
32

 

युवाओं, गैर सरकारी संगठनों और सामाजिक कार्यकर्ताओं की भूमिका।

गुरुकुल महिला महाविद्यालय कालीबाड़ी रायपुर से एनएसएस प्रोग्राम ऑफिसर रात्रि लहरी, फुलवारी शिक्षण एवं युवा कल्याण समिति के संस्थापक नितेश साहू एवं और अर्क वियत फाउंडेशन के संस्थापक विनय सोनवानी के संयुक्त तत्वाधान में आयोजित आज के सेमिनार का विषय महामारी के दौरान युवाओं, गैर सरकारी संगठनों और सामाजिक कार्यकर्ताओं की भूमिका है जिसमें प्रमुख वक्ता यूनिसेफ छत्तीसगढ़ के राज्य प्रमुख श्री जॉब जकारिया उपस्थित रहे। इस महामारी ने कई लोगों को एक साथ काम करने और एक दूसरे की मदद करने के लिए प्रेरित किया है इस महामारी ने संकट के दौरान युवाओं, गैर सरकारी संगठनों व सामाजिक कार्यकर्ताओं ने बहुत बड़ी भूमिका निभाई है हमें सेमिनार का आयोजन इस बात पर चर्चा करने और साझा करने के लिए कर रहे हैं कि इस चुनौतीपूर्ण समय में हम और क्या योगदान दे सकते हैं कि लोगों को सशक्त किया जाए और आने वाले समय में इस महामारी का सामना कर पाए हमारे वक्ता यूनिसेफ प्रमुख जॉब जकारिया जी ने 5 बिंदुओं पर चर्चा की पहला तो उन्होंने कहा कोविद 19 महामारी प्रत्यक्ष व अप्रत्यक्ष रूप से प्रभावित कर रहा है और सबसे ज्यादा प्रभावित आने वाले समय में बच्चे होंगे दूसरे बिंदु में उन्होंने कहा कि युवा आंदोलन की बात कही ऐसी स्थिति में सबसे प्रभावी होते हैं बताया कि कहां पर कितने युवा और उनके साथ एनजीओ व संगठन के द्वारा ब्लॉक जिला स्तर पर समन्वय के साथ कार्य किया जाए तीसरे बिंदु में कहा कि स्वयं सेवक अपने एनएसएस, एनवाईकेएस स्वयं सहायता, एनजीओ व राजनीतिक दलों के युवा विंग हो सकते हैं और सबसे महत्वपूर्ण बिंदु कि आज के युवा एनजीओ व सोशल वर्कर क्या करें तो सबसे पहले कोविड-19 जागरूकता, शिक्षा व स्वास्थ्य जागरूकता अभियान चलाने की बात कही साथ ही कहा यूनिसेफ के द्वारा चलाया जा रहा अभियान रोको टोको, ब्लू ब्रिगेड सीख कार्यक्रम की जानकारी दी कहा और कहा कि घर बैठे घर में रहकर भी आप कोरोना योद्धा बन सकते हैं छत्तीसगढ़ में 500000 युवाओं को यंग वॉरियर्स के रूप में जुड़ने की अपील की जानकारी दी कि कैसे जुड़ सकते हैं yuwaah.org/becomeayoungwarrior पर जाकर एक युवा योद्धा बने या 8066019225 में मिस्ड कॉल कर।
जिनकी आवाज ही उनकी पहचान है आर जे शिवम मॉडरेटर की भूमिका निभाई जो एक रेडियो जॉकी है और रेडियो ऑरेंज के साथ प्रमुख रेडियो शो छत्तीसगढ़िया सबले बढ़िया के साथ काम कर रहे हैं वेबिनार में उपस्थित छात्र-छात्राओं द्वारा प्रश्न किया गया एवं रोको टोको अभियान से जुड़ी छात्रा आरती साहू द्वारा अपने अनुभव को साझा किया। धन्यवाद ज्ञापन नितेश साहू और विनय सोनवानी द्वारा दिया गया। कार्यक्रम में गुरुकुल महिला महाविद्यालय के प्राचार्य संध्या गुप्ता, फॉरेंसिक इन्वेस्टिगेशन एजेंसी के डायरेक्टर बारमाते एवं टीम, जन जुड़ाव के संस्थापक संजय शर्मा जी रायपुर और बिलासपुर जिले के कार्यक्रम अधिकारी, एनएसएस स्वयं सेवक। कार्यक्रम प्रोग्राम ऑफिसर रात्रि लहरी के मार्गदर्शन में संपन्न हुआ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here